मेन्यू

समाचार और घटनाक्रम

समाचार और घटनाक्रम

अक्टूबर 2018

3 अक्टूबर से 5 अक्टूबर 2018 में ग्वालियर (म.प्र.) में आयोजित सी.बी.एस.ई. शतरंज चैम्पियनशिप प्रतियोगिता में प्रतिभास्थली जबलपुर की चार छात्राओं ने कु. अन्तरा डोंगरे 11वीं कला, कु. सेजल जैन, कु. मुस्कान जैन, व कु. अंकिता जैन 9वीं ने तीसरा स्थान प्राप्त किया है। उन्हें कांस्य पदक से नवाजा गया।
प्रतिभास्थली परिवार की तरफ से आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएँ ....
 

अगस्त 2018

आजादी का जश्न प्रतिभास्थली परिसर में
भारत का 72वां स्वतन्त्रता दिवस प्रतिभास्थली में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर छात्राओं ने वतन के गीतों पर सुंदर-सुंदर मनमोहक नृत्य प्रस्तुत किये। सारे जहाँ से अच्छा व ये वतन ये वतन जैसे गीतों के तरानों से वातावरण गुंजायमान हो गया।
 

जुलाई 2018

राज्यस्तरीय कैरम प्रतियोगिता दतिया में भाग लेने वाली प्रतिभास्थली की छात्रा कु. सौम्या जैन (कक्षा सातवीं) ने मध्य प्रदेश में पांचवा स्थान प्राप्त किया । तमिलनाडु में राष्ट्रीय स्तर पर होने वाली प्रतियोगिता के लिए सौम्या का चयन किया गया है। उसकी इस सफलता पर प्रतिभास्थली परिवार गौरवान्वित है।
 
20 जुलाई 2018 से दतिया में होने वाली राज्य स्तरीय शतरंज प्रतियोगिता के लिए प्रतिभास्थली की छात्रा कु. सेजल जैन (कक्षा 9वीं) का और राज्यस्तरीय कैरम प्रतियोगिता के लिये कु. श्रद्धा जैन और कु. सौम्या जैन (कक्षा 7वीं) का चयन हुआ है।
प्रतिभास्थली परिवार की तरफ से हार्दिक शुभकामनाएँ आपको ....
 

मई 2018

10वीं व 12वीं में शत प्रतिशत परिणाम के साथ प्रतिभास्थली ज्ञानोदय विद्यापीठ, जबलपुर एक बार पुनः सफलता के चरम शिखर पर ...

12वीं बोर्ड परीक्षा का परिणाम
वाणिज्य संकाय - कु. सौम्या जैन- 91.8%,
विज्ञान संकाय - कु. साधिका जैन-91.8%,
कला संकाय - कु. सेजल जैन - 89.4%

10वीं बोर्ड परीक्षा का परिणाम
कु. प्राची जैन - 96.7%
कु. यशी जैन - 95.5%
कु. निष्ठा जैन - 90.5%
 
संस्कारो की सरगम से फूटे स्वर इंदौर और पपौराजी (टीकमगढ़) हुए गुंजायमान
एक साथ दो-दो प्रतिभास्थली विधालयों का शिलान्यास...
पपौराजी अतिशय क्षेत्र में जहाँ आचार्य भगवन के साक्षात् सानिध्य में शिलान्यास हुआ वहीं इंदौर में उनकी ही आज्ञानुवर्ती शिष्या आर्यिका आदर्शमति माताजी के सानिध्य में सम्पन्न हुआ।
 

अप्रेल 2018

हारे को बना सहारा - हथकरघा
अक्षय तृतीया के पावन अवसर पर पिंडरुखी गाँव में आचार्य श्री विद्यासागरजी महाराज के आशीर्वाद से प्रतिभामंडल की बहनों द्वारा हथकरघा रोजगार प्रकल्प का शुभारंभ किया गया। जिसमें ब्रह्मचारी बहनों द्वारा गाँव की बेरोजगार महिलाओं को हथकरघा से वस्त्र बनाना सिखाकर उन्हें आत्मनिर्भर बनाया जायेगा।
 

जनवरी 2018

स्वस्थ शरीर में स्वस्थ मन का निवास होता हे और स्वस्थ तन और मन वाला बालक ही देश का भविष्य होता है । प्रतिभास्थली में प्राकृतिक वातावरण के साथ साथ समय-समय पर चिकित्सा विशेषज्ञों को भी बुलाया जाता है । रविवार दिनांक 14 जनवरी 2018 को विद्यालय परिसर में अनेक चिकित्सकों ने अपनी सेवायें प्रदान की । नेत्र विशेषज्ञ, दन्त विशेषज्ञ, ENT आदि सभी रोग विशेषज्ञों का लाभ प्रतिभास्थली की छात्राओं को प्राप्त हुआ ।
 

दिसंबर 2017

संयम पथ के अविराम यात्री 108 आचार्यश्री विद्यासागरजी महाराज का ‘50 वा दीक्षा वर्ष’ भारत के कोने-कोने में ‘संयम स्वर्णिम महोत्सव’ के रूप में हर्षोउल्लास से मनाया जा रहा है । इस भक्ति सलिला की धारा में प्रतिभास्थली की भूमि भी स्नपित हो गई । वार्षिकोत्सव(निर्माण) 2017 को प्रतिभास्थली में अपने प्राणदाता की आराधना के रूप में धूमधाम से मनाया गया ।

‘उत्सव आया’ मंगल नृत्य के रूप में नन्हीं नन्हीं बालिकाओ ने मंगलाचरण प्रस्तुत किया । आचार्यश्री के जीवन दर्शन पर आधारित कई कार्यक्रम जैसे छाया नाटक(Shadow play), मूक अभिनय (MIME), रोशनी अभिनय (UV Lights play), रेत कला(Sand Art), नुक्कड़ नाटक, चरखा प्रस्तुति, योग आदि प्रस्तुत किये गये । साथ ही ‘ओम ह्रीं श्री विद्यासागराय नमो नम:’ शास्त्रीय नृत्य के साथ मंगलमय उत्सव समाप्त हुआ । इस कार्यक्रम की अध्यक्षता राष्ट्रपति द्वारा उद्योग पत्र पुरस्कार से सम्मानित श्री राजेन्द्र सिंह जैन (लुहाडिया) जी ने की ।
 
नेह निमंत्रण:
अवसर है “निर्माण 2017” का
प्रतिभास्थली ज्ञानोदय विद्यापीठ, जबलपुर में
“सयंम स्वर्ण महोत्सव का”,
“वार्षिक समारोह का” ।
दिनांक : 24/12/2017
समय : सायंकाल 5.00 बजे से 7.00 बजे तक
आपका आगमन छात्राओं का उत्साहवर्धन ...
 
माया नगरी मुंबई की धरा पर 10 दिसंबर 2017 को पार्ला के भाईदास सभागृह में प्रतिभास्थली की छात्राओं द्वारा ‘अपराजेय साधक’ आचार्यश्री विद्यासागरजी महाराज जी के संयम स्वर्ण महोत्सव के उपलक्ष्य पर रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए।
भिन्न-भिन्न विषयों पर आधारित इन कार्यक्रमों ने आधुनिकता की चकाचौंध में डूबे मुंबई वासियों को भारत के उजड़ते भविष्य के दर्शन के साथ-साथ भारत के गौरवपूर्ण अतीत की झाँकियों का दिग्दर्शन भी कराया।
छात्राओं द्वारा प्रस्तुत गुरुभक्ति व गुरुमहिमा के तरानों ने भौतिकता से भरी मुंबई में आध्यात्मिकता का रंग भर दिया। कार्यक्रमों की भव्यता ने मुंबई वासियों को इतना मोहित कर दिया कि कुछ घंटों के लिए मुंबई थम सी गई।
परंतु यह सब मुंबई वासियों के अथक परिश्रम और अटूट गुरु भक्ति का परिणाम था, जिन्होंने छात्राओं को मुंबई जैसा मंच दिया।

महानगरी की व्यस्ततम जिंदगी में भी गुरुभक्त समाज ने छात्राओं को सर आंखों पर बिठाया। छात्राओं को मुंबई की सैर भी कराई। नेहरु तारघर, एस्सेल वर्ल्ड, गेटवे ऑफ इंडिया जैसे स्थानों पर जाकर छात्राओं ने झूलों और जहाजों का भरपूर आनंद लिया।
सचमुच प्रतिभास्थली ने जहां मुंबई वासियों को भारत की धूमिल होती छवि के विषय में चिंतन करने पर मजबूर कर दिया तो वहीं मुंबई वासियों ने अपनी अद्भुत गुरुभक्ति का परिचय देकर अपने पुण्य में वृद्धि की और आश्वासन दिया कि - वह 'इंडिया को भारत' बनाने का भरपूर प्रयास करेंगे।
 
जिनके विचारों में अहिंसा, वाणी में स्यादवाद और विचारों में अनेकांत हैं । जो अपनी मूकता में भी मुखर हैं और मुखरता में भी नितांत मूक हैं, ऐसे अपराजेय साधक आचार्य श्रीविद्यासागरजी महाराज के संयम स्वर्ण महोत्सव वर्ष के अवसर पर समर्पण के रंग में रंगी प्रतिभास्थली की छात्राओं द्वारा माया नगरी मुंबई की धरा पर रविवार 10 दिसम्बर 2017 को सांस्कृतिक प्रस्तुति होने जा रही हैं ।

भौतिकता की चकाचौंध में धूमिल लोगों में भक्ति और अध्यात्म का रस भरने और भटकी हुए मानवता को प्राचीन संस्कृति की याद दिलाने का यह एक सराहनीय प्रयास है ।

समय- प्रातः 9:30 बजे, स्थान- भाईदास हॉल, विले पार्ला ।
देखिये सीधा प्रसारण जिनवाणी चेनल पर ...
 

अक्टूबर 2017

राजाओं की कर्म भूमि और महाराजाओं की तपो भूमि रहे राजस्थान की पावन वसुंधरा पर प्रतिभास्थली, जबलपुर की 9 वीं कक्षा की छात्राओं ने 3 से 13 अक्टूबर 2017 तक किया शैक्षिक भ्रमण ।

संयम स्वर्ण महोत्सव वर्ष के इस स्वर्णिम अवसर पर आयोजित इस यात्रा के दौरान छात्राओं का जहाँ ज्ञानात्मक, भावात्मक और आध्यात्मिक पक्ष विकसित हुआ वहीं जगह-जगह पर उनका भव्य स्वागत सत्कार किया गया । इस दौरान छात्राओं ने रावतभाटा परमाणु ऊर्जा संयंत्र, बिजौलिया, चित्तोड़गढ़, उदयपुर, राणकपुर, माउंट आबू स्थानों के भ्रमण के साथ-साथ अजमेर में आचार्यश्री की दीक्षा स्थली नसीराबाद में पूज्य ज्ञानसागर जी महाराज की समाधिस्थली आदि का दर्शन कर आत्मिक व आध्यात्मिक आनन्द का अनुभव किया । साथ ही पूज्य सुधासागर जी महाराज व पूज्य प्रमाणसागर जी महाराज के दर्शन व देशना का लाभ के साथ पारस टीवी के माध्यम से छात्राओं ने पूरे देशवासिओं को अपने शब्दों द्वारा प्रतिभास्थली से परिचित कराया ।
 

सितम्बर 2017

गोम्मटेश्वर श्री बाहुबलीस्वामी महामस्तकाभिषेक महोत्सव-2018 की पूर्व भूमिका के रूप में श्रवणबेलगोला में आयोजित राष्ट्रीय जैन महिला सम्मेलन के सुअवसर पर - प्रतिभास्थली ज्ञानोदय विद्यापीठ, जबलपुर (मध्यप्रदेश) को दिनांक 13-08-17 संस्कृति संरक्षण के क्षेत्र में अभूतपूर्व योगदान हेतु आदर्श जैन महिला संस्था के रूप में भारतवर्ष की समस्त संस्थाओं में प्रथम स्थान पर प्रतिष्ठित किया गया है । “प्रतिभा स्वयं प्रमाणित होती है, उसे प्रमाणपत्रों की आवश्यकता नहीं होती ।” आचार्यश्री 108 विद्यासागर जी महाराज की इस उक्ति को चरितार्थ करती प्रतिभास्थली की बहनें गोम्मटेश्वर में इस अवसर पर अनुपस्थित रहीं ।

अतएव श्रीमती सरिता जैन- राष्ट्रीय अध्यक्षा ने स्वयं रामटेक आकर आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज के ससंघ सानिध्य में दिनांक 10.09.17 प्रतिभास्थली- जबलपुर की बहिनों को 1 लाख की नगद राशि, प्रशस्तिपत्र व स्वर्णपदक भेंट कर सम्मानित किया । यह जबलपुर सहित भारतवर्ष की जैन समाज के लिए अत्यंत गौरव का विषय है ।

यह सब गुरुकृपा का प्रसाद है और उनके ही चरणों में अर्पित समर्पित है ।
 

जुलाई, 2017

संस्कारित शिक्षा का शंखनाद- प्रतिभास्थली की प्रतिभाएँ बनी ‘चार्टर्ड अकाउंटेंट’
प्रतिभास्थली ज्ञानोदय विद्यापीठ, जबलपुर से शिक्षा प्राप्त दो प्रतिभाएँ- कु. मोही सेठ (2012 बैच) और कु. प्रज्ञा जैन (2013 बैच) की मेहनत रंग लाई और दोनों प्रतिभाएँ बनी ‘चार्टर्ड अकाउंटेंट’ ।
उनकी इस सफलता पर प्रतिभास्थली परिवार गौरवान्वित है ।
दोनों को हार्दिक शुभकामनाएँ......
 

जून, 2017

बिना कोचिंग क्लास के, प्रतिभास्थली की छात्राओं द्वारा सफलता का परचम -
परम पूज्य 108 आचार्य प्रवर श्री विद्यासागर महामुनिराज के आशीर्वाद से संचालित ‘प्रतिभास्थली ज्ञानोदय विद्यापीठ जबलपुर’ की परिश्रमी प्रतिभाओं ने एक बार पुन: रचा सफलता का नया कीर्तिमान ।
12वीं बोर्ड परीक्षा में सभी छात्राओं ने प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण होकर गौरवशाली प्रतिभा का प्रदर्शन किया हैं ।
वाणिज्य संकाय में कु. ईशिता जैन ने 92.8%,
विज्ञान संकाय में कु. आस्था जैन ने 92.6% तथा
कला संकाय में संस्कृति सिंघई ने 91.8% अंक के साथ प्रथम स्थान प्राप्त किया हैं
उसमें विशेष रूप से कला संकाय की अनुश्री गुप्ता ने मनोविज्ञान में 100/100 अंक प्राप्त कर विद्यालय को गौरवान्वित किया है ।
दसवीं बोर्ड परीक्षा में, कु.रिद्धि जैन, कु. माही सेठ, कु. विधि जैन और कु. दीक्षा जैन ने 10 ग्रेड पॉइंट्स प्राप्त कर विद्यालय का गौरव बढ़ाया हैं ।
गुरुकुल प्रणाली पर आधारित यह कन्या आवासीय संस्थान कन्याओं के सर्वांगीण विकास के साथ-साथ ‘जीवन निर्वाह नहीं जीवन निर्माण’ की शिक्षा प्रदान कर रहा हैं |
 

फरवरी, 2017

गांधीजी की स्मृति संजोएँ महाराष्ट्र की धरोहर वर्धा नगरी और रामायण की याद दिलाती भगवान शांतिनाथ की पावन भूमि रामटेक की ऐतिहासिक, शैक्षणिक और मनोरंजनात्मक यात्रा के लिए प्रतिभास्थली की 11 वीं की छात्राएँ 14 फरवरी, 2017 प्रस्थान करेंगी । उनकी यात्रा मंगलमय हो ।
 

जनवरी, 2017

गणतन्त्र दिवस की मंगल बेला में मुख्य अतिथि श्री केवलचंदजी सिंघई एवं जयकुमार मोदीजी की उपस्थिति में प्रतिभास्थली में ध्वजारोहण का कार्यक्रम सानंद सम्पन्न हुआ । बच्चों के द्वारा देशभक्ति गीत और बैंड का प्रदर्शन किया गया ।
 
प्रतिभास्थली में प्रतिभा सम्मान समारोह “एडिशनल डिरेक्टर (वित्त विभाग मध्य प्रदेश शासन) श्री नितिन नांदगांवकर जी” की अध्यक्षता में 25 जनवरी को सम्पन्न हुआ ।
 

दिसंबर, 2016

राष्ट्रस्तरीय कैरम प्रतियोगिता के लिये (मध्यप्रदेश में पांचवे और सातवें स्थान) के साथ प्रतिभास्थली की छात्राएँ कु. धारांशी जैन और प्रान्जुल जैन (कक्षा आठवीं) का चयन ।
प्रतिभास्थली परिवार की तरफ से हार्दिक शुभकामनाएँ आपको ....
 
पक्षीयों ने ली स्वतंत्रता की सांस.....
गुलामी के पिंजड़ो में वर्षो से केद करीब 200 पक्षीयों को दया की स्थली - ‘दयोदय प्रतिभास्थली’ की धरती पर लाकर नन्हीं छात्राओं के कोमल हस्तों से आकाश की ऊँचाईयों पर रविवार (4 दिसंबर) के दिन उड़ाकर उन्हें बंधन मुक्त किया गया । इससे छात्राओं में मानवता की भावना का संचार हुआ ।
 

नवम्बर, 2016

धर्मवीरचक्र और राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित यशस्वी लेखक व कुशल वक्ता श्री डॉ. चन्द्रकुमार जैन की अध्यक्षता में प्रतिभास्थली परिसर में शिक्षक-अभिभावक वार्ता का आयोजन 6 नवम्बर 2016 को किया गया । इस वार्ता के द्वारा श्री चन्द्रकुमारजी ने जहाँ प्रथम सत्र में छात्राओं के अभिभावकों को संबोधित किया तो वहीँ द्वितीय सत्र में उज्जवल भविष्य हेतु छात्राओं को मार्गदर्शन दिया ।
 
4 नवम्बर 2016 "शिक्षा और भारत” विषय पर आयोजित संगोष्ठी के प्रथम सत्र में, राष्ट्रसंत आचार्य विद्यासागरजी महाराज के शिक्षा सम्बन्धी विचारों पर आधारित पुस्तक “विद्या की परछाईयाँ” का विमोचन बिहार के राज्यपाल माननीय श्री रामनाथ कोविंदजी के करकमलों से हुआ, जिसका संकलन प्रतिभामंडल के द्वारा किया गया है ।
 

अक्टूबर, 2016

'नमो' ने किया नमन राष्ट्रसंत के चरणों में
युगद्रष्टा संत से मिले युगीन पुरुष ...
रत्नत्रयधारी के चरणाभिषेक कर धन्य-धन्य हुए प्रधानमंत्री मोदीजी
 
चलो चले मनोरंजनपूर्ण ज्ञानयात्रा पर ... प्राचीन सांस्कृतिक धरोहर की धनी, ऋषि-मुनियों की जन्मस्थली, सागर तक विस्तृत, पवित्र भूमि दक्षिण भारत की मंगल यात्रा पर प्रतिभास्थली की 9वीं कक्षा की छात्राएँ 13 से 25 अक्टूबर 2016 तक रवाना होने जा रही हैं । इस यात्रा के दौरान छात्राएँ विभिन्न ऐतिहासिक, सांस्कृतिक, वैज्ञानिक, धार्मिक और शैक्षणिक स्थलों का भ्रमण करेंगी ।
 
3 अक्टूबर से प्रारम्भ राष्ट्रीय शतरंज प्रतियोगिता 2016 रंगा-रेड्डी(तेलंगाना) में प्रतिभास्थली की 11वीं की छात्रा कु. सौम्या जैन (वाणिज्य संकाय) क्रीडारत है।
प्रतिभास्थली परिवार की तरफ से हार्दिक शुभकामनाएं आपको....
 
लाल परेड ग्राउंड में अहिंसा का जयघोष.... रविवार 2 अक्टूबर 2016 धर्म नेता दिगम्बराचार्य पूज्य विद्यासागरजी महाराज और राजनेता मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के अद्भुत संगम की सलिला में क्षमावाणी महामहोत्सव मनाया गया । प्राणीमात्र के प्रति क्षमा भाव का दिग्दर्शन व प्रदर्शन से दूर आत्मदर्शन का बोध करने वाली अहिंसा के पुजारी 108 आचार्य श्री विद्यासागरजी महाराज की मंगलवाणी का पान राजनेताओं सहित हजारों जनमानस ने किया और आचार्यश्री की भावभीनी जगतकल्याण की भावना को सुनकर सबके हृदय द्रवित हो गये ।
 

सितम्बर, 2016

मध्य प्रदेश की राजधानी के इतिहास का स्वर्णिम दिन - 20 सितम्बर 2016
धर्म के मंच से सत्य, अहिंसा, दया और करुणा का बिगुल बजा ......
स्वाबलंबन, स्वाभिमान और स्वाश्रितता से भरे कर्तव्यों की शिक्षा का शंखनाद ...... सत्ता को चुनौती भरा पथ प्रदर्शन ......
 
अल्पसंख्यक छात्रवृति (2016-17) हेतु online फॉर्म भरने के लिए -
पासवर्ड - IQW_47wgmb
यूज़र आई.डी. - 35030347840
 
शतरंज में माहिर कु. सौम्या जैन 11वीं (वाणिज्य) अब शामिल होगीं बुद्धिबल की परीक्षा के लिए अगले चरण राष्ट्रीय स्तर की शतरंज प्रतियोगिता में ।
 
14 सितम्बर से राजधानी भोपाल में आयोजित राज्य स्तरीय कैरम प्रतियोगिता में प्रतिभास्थली की छात्रा कक्षा-8वीं की कु.धारांशी जैन और प्रान्जुल जैन का चयन हुआ है ।
 

अगस्त, 2016

28 व 29 अगस्त से शहडोल में आयोजित होनेवाली राज्यस्तरीय शतरंज प्रतियोगिता के लिए प्रतिभास्थली की 6 छात्राओं का चयन हुआ हैं - चयनित छात्राएँ- अर्चिता जैन, सौम्या जैन, परिधि जैन, आंशी जैन, शुभ्रा जैन और जैनीशा जैन हैं ।
 
28 अगस्त को जबलपुर में संभागीय स्तर पर आयोजित होने वाली कैरम के लिए प्रतिभास्थली की 7 छात्राओं का चयन हुआ है -प्रांजुल जैन, धारांशी जैन, स्नेहा जैन, नैना जैन, आयुषी जैन, सान्या जैन, सिद्धि जैन
 

जून, 2016

10वीं व 12वीं में शत प्रतिशत परिणाम के साथ प्रतिभास्थली ज्ञानोदय विद्यापीठ एक बार पुनः सफलता के चरम शिखर पर ...
 
राजधानी की चकाचौंध से दूर प्राचीनता को पुरस्कृत करने वाली प्रतिभास्थली की दो छात्राएं कु. दीक्षा जैन और महिमा जैन देहली कक्षा 9वीं ने कुण्डलपुर में बड़े बाबा और आचार्य श्री विद्यासागरजी महाराजजी के मंच से 12 जून 2016 लोकसभा अध्यक्षा श्रीमती सुमित्रा महाजन के पुनीत हाथों से सम्मानित होकर विद्यालय को गौरवान्वित किया । इन्होंने प्रतिभास्थली हथकरघा प्रशिक्षण केन्द्र से 15 दिन का प्रशिक्षण प्राप्त कर अपने नन्हें हाथों से तीन दिन के अन्दर एक दरी व चादर का निर्माण किया ।
 
प्राचीन संस्कृति को पुनर्जीवित करने व छात्राओं को स्वावलंबी भविष्य के निर्माण हेतु प्रतिभास्थली की क्रियात्मक गतिविधियों के अंतर्गत 9 से 12 वीं तक की छात्राओं के लिए हथकरघा का प्रशिक्षण इस वर्ष से प्रारंभ...
 

दिसम्बर, 2015

सुस्वागतम- वार्षिकोत्सव -निर्माण(24 दिसम्बर- 2015), विधुत एवं ध्वनि का अदभुत नजारा(शाम 5:30 बजे से), भारतीय संस्कृति पर आधारित प्रदर्शनी, रंगारंग कार्यक्रम का भव्य आयोजन, दोपहर -12 बजे से
 

नवम्बर, 2015

शिक्षक –अभिभावक वार्ता और उत्तर पुस्तिका अवलोकन 17 नवम्बर 2015 को प्रतिभास्थली में संपन्न होने जा रही हैं ।
 

अक्टूबर, 2015

बुद्धिबल के विकास हेतु सी.बी.एस.ई. की ओर से प्रतिवर्ष की तरह शतरंज प्रतियोगिता का आयोजन 5 नवम्बर 2015 से पूना (महाराष्ट्र) में किया जा रहा हैं जिसमें वेस्ट ज़ोन की तरफ से प्रतिभास्थली की चार छात्राएं - आस्था आल्या, इशिता जैन, सौम्या जैन, जैनिषा जैन प्रतिभागी होगीं ।
 
आओ चलें, उत्तर भारत की ओर ... शैक्षिक भ्रमण हेतु 28 अक्टूबर से कक्षा 9वीं की छात्राओं का प्रयाण उत्तर भारत की ओर ।
 
छात्राओं के शारीरिक व मानसिक गुणों के विकास को ध्यान में रखते हुए प्रतिभास्थली परिसर में 29 अक्टूबर से त्रिदिवसीय वार्षिक क्रीड़ा प्रतियोगिता का आयोजन होने जा रहा हैं, इसमें विभिन्न प्रकार की खेल कूद प्रतियोगिता कराई जाएगी ।
 
बालिकाओं में व्यवसायिक कौशल का विकास करने और प्राचीन संस्कृति के प्रति गौरव उत्पन्न करने हेतु प्रतिभास्थली में छात्राओं को दिया जा रहा है हथकरघा का प्रशिक्षण। यह प्रशिक्षण उनकी विषयगत गतिविधिओं के अंतर्गत ही रखा गया है ।
 
राज्यस्तरीय बैडमिंटन प्रतियोगिता दतिया में प्रथम स्थान पर भाग लेने वाली प्रतिभास्थली की छात्रा कु. देशना काला (12 वाणिज्य) ने मध्य प्रदेश में तृतीय स्थान प्राप्त किया। औरंगाबाद में राष्ट्रीय स्तर पर होने वाली प्रतियोगिता के लिए देशना का चयन किया गया है।
 
प्रतिभास्थली की छात्राओं ने संकलित मूल्याङ्कन-1 परीक्षा शुरू होने से पूर्व परम पूज्य आर्यिका रत्न 105 आदर्श मति माताजी से प्राप्त किये मंगल प्रेरणास्पद व आदर्श विद्यार्थी बनने की शुभकामनाओं के परिपूर्ण आशीष वचन।
 
प्रतिभास्थली की सभी दीदियों व छात्राओ ने परम पूज्यनीया आर्यिका रत्न 105 आदर्श मति माताजी के सानिध्य में क्षमावाणी पर्व बड़ी धूमधाम से मनाया।
 

सितंबर, 2015

राष्ट्र स्तरीय शतरंज प्रतियोगिता के लिए (मध्य प्रदेश में तृतीय स्थान के साथ) प्रतिभास्थली की छात्रा कुमारी इशिता जैन, 11वीं वाणिज्य का चयन।
 
राष्ट्र स्तरीय शतरंज प्रतियोगिता अक्टूबर माह में तेलंगाना में होगी जिसमें ईशिता (11वीं वाणिज्य) अपने बुद्धि बल को आजमाएगी।